7th Pay Commission:केंद्रीय कर्मचारियों के लिए सरकार जल्द ही एक बड़ी खुशखबरी दे सकती है। डीए बढ़ाने की मांग पूरी होने के बाद अब फिटमेंट फैक्टर की बारी है। केंद्रीय कर्मचारी कई दिनों से बढ़ोतरी का इंतजार कर रहे थे, लेकिन अब लगता है कि यह इंतजार खत्म हो गया है. नए वित्तीय वर्ष की शुरुआत में इसके बढ़ने की उम्मीद थी, लेकिन ऐसा नहीं हुआ। अब जब कर्मचारियों को महंगाई भत्ते में बढ़ोतरी का तोहफा मिल गया है तो फिटमेंट में बढ़ोतरी की उम्मीद भी बढ़ गई है।

3.68% तक बढ़ने की मांग –

केंद्र सरकार के कर्मचारियों की सैलरी तय करने में फिटमेंट फैक्टर अहम भूमिका निभाता है। अगर इसे बढ़ाया जाता है, तो वेतन में काफी वृद्धि हो सकती है। केंद्रीय कर्मचारी कई दिनों से इसे 3.68 गुना बढ़ाने की मांग कर रहे हैं। फिलहाल फिटमेंट फैक्टर 2.57 गुना तय है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, सरकार 2022 के अंत से पहले एक बड़ा फैसला ले सकती है।हालांकि, केंद्र सरकार की ओर से अभी तक कोई आधिकारिक घोषणा या टिप्पणी नहीं की गई है।

वेतन में फिटमेंट फैक्टर की भूमिका –

अगर केंद्रीय कर्मचारियों के लिए फिटमेंट फैक्टर बढ़ता है तो यह डीए बढ़ोतरी के बाद सरकार की तरफ से एक और बड़ा तोहफा होगा।कर्मचारियों के वेतन में इस फिटमेंट फैक्टर की भूमिका की बात करें तो सातवें वेतन आयोग की सिफारिशों के अनुसार केंद्रीय कर्मचारियों का वेतन उनके मूल वेतन और फिटमेंट फैक्टर के अलावा भत्तों के आधार पर तय किया जाता है। यानी इस बढ़ोतरी से सैलरी में जरूर इजाफा होगा।

छह साल पहले की तुलना में लगातार वृद्धि –

करीब छह साल पहले यानी 2016 में सरकार ने केंद्रीय कर्मचारियों को 2.57 गुना फिटमेंट फैक्टर मुहैया कराया था.उसी साल सातवां वेतन आयोग लागू हुआ था। इस वृद्धि के कारण तत्कालीन कर्मचारियों का न्यूनतम वेतन सीधे 6000 रुपये से बढ़ाकर 18,000 रुपये कर दिया गया था। अब सरकार इस साल फिर से केंद्रीय कर्मचारियों के वेतन में बढ़ोतरी कर सकती है। अगर इसमें बढ़ोतरी होने की संभावना है तो न्यूनतम मूल वेतन 18,000 रुपये से बढ़ाकर 26,000 रुपये किया जाएगा।

ऐसे बढ़ेगी सैलरी-

मौजूदा समय में केंद्रीय कर्मचारियों का फिटमेंट फैक्टर 2.57 गुना है। उस आधार पर न्यूनतम वेसिक वेतन 18000 रुपये है।अब कर्मचारी मांग कर रहे हैं कि इसे 3.68 गुना बढ़ाया जाए यानी न्यूनतम मूल वेतन 26 हजार हो। अभी उपलब्ध फिटमेंट फैक्टर के अनुसार वेतन की गणना करते हुए, जिसका वेतन 18,000 रुपये है, उसे 18,000 रुपये x 2.57 = 46260 रुपये अन्य भत्तों को छोड़कर मिलते हैं। वहीं अगर इसे बढ़ाकर 3.68 किया जाता है तो कर्मचारी के अन्य भत्तों को छोड़कर वेतन 26000 X 3.68 = 95680 रुपये होगा।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *