Ahmednagar Successful Farmer :अहमदनगर जिला नवाचार के लिए हमेशा चर्चा में रहता है। जिले के किसान अपनी नवीन गतिविधियों के लिए पूरे महाराष्ट्र में प्रसिद्ध हैं। ऐसी ही एक अभिनव गतिविधि नागरदेवळे के एक प्रायोगिक किसान ने की है और इसने सबका ध्यान खींचा है।

नागरदेवळे के एक प्रायोगिक किसान बापू धडगे ने अपने खेत में शेवंती की खेती शुरू की है। शेवंती की फसल को भरपूर धूप की जरूरत होती है। लेकिन दिन और रात के इस चक्र में शेवंती फसल को रात में धूप नहीं मिल पाती है|

ऐसे में कई किसान शेवंती की खेती का प्रयोग करते हैं। लेकिन बापू ने रात में शेवंती फसल के लिए धूप प्राप्त करने के लिए खेत में 70 वाट क्षमता के 450 एलईडी बल्ब लगाकर शेवंती फसल की खेती करने में सफलता प्राप्त की है। इसी के चलते बापू को इस समय पंचक्रोशी में अच्छी चर्चा मिल रही है|

बापू ने अपने एक एकड़ खेत में शेवंती फसल की खेती शुरू कर दी है। वास्तव में हमारे यहां शेवंती की खेती अधिक धूप होने पर होती है। लेकिन ऐसे में शेवंती को बाजार में अच्छी कीमत नहीं मिलती। इसके चलते शेवंती फसल की खेती संरक्षित तरीके से यानी पॉलीहाउस में करने की प्रथा है। हालांकि पॉलीहाउस में खेती करने के लिए किसानों को अधिक पैसा खर्च करना पड़ता है।

जाहिर है, यह हर किसी के लिए संभव नहीं है। पॉलीहाउस में शेवंती की खेती करना भी बापू के लिए असंभव था। फिर उनके सामने यह सवाल खड़ा हो गया कि शेवंती फसल के लिए कृत्रिम रूप से धूप कैसे प्रदान की जाए। तब काय बापू ने एलईडी बल्बों की मदद से शेवंती की रोशनी की जरूरत को पूरा किया।

उन्होंने अपने एक एकड़ क्षेत्र में तीन फीट की दूरी पर एलईडी क्लब लगाए हैं। इसके लिए उनके पास 4000 फीट तार है। इस प्रयोग से शेवंती की खेती सफल हुई है और कलियाँ अच्छी तरह खुल गई हैं। चार महीने पहले लगाई गई शेवंती में अब फूल आ गए हैं और उपज देने लगी है।

अभी तक एक टन उत्पादन हुआ है और आठ टन उत्पादन और होने की उम्मीद है। निश्चित तौर पर शेवंती खेती का यह प्रयोग अलग है और रात के समय बापू के खेत में एलईडी बल्बों की रोशनी देखने लायक होती है| राहगीर उत्सुकतावश बापू से इस प्रयोग की चर्चा करते हैं।

एक तस्वीर है कि बापू के प्रयोग से अन्य प्रायोगिक किसान भी शेवंती खेती की ओर रुख करेंगे। निश्चय ही प्रायोगिक किसान ढडगे का यह प्रयोग औरों के लिए भी मार्गदर्शक सिद्ध होगा।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *