Atal Pension Yojana: सरकार ने अटल पेंशन योजना (APY) के नियमों में कुछ महत्वपूर्ण बदलाव किए हैं। ये नियम 1 अक्टूबर 2022 से लागू होंगे।

इस नए नियम (APY new rule),के अनुसार, कोई भी व्यक्ति जो आयकर (Tax) का भुगतान कर रहा है, वह इस योजना का लाभ नहीं उठा पाएगा।

यह अटल पेंशन योजना NPS आर्किटेक्चर के माध्यम से पेंशन फंड नियामक और विकास प्राधिकरण(PFRDA) द्वारा प्रशासित है।

सेवानिवृत्ति के बाद सुनिश्चित रिटर्न के साथ, APY पेंशन योजना का उद्देश्य लोगों को उनके भविष्य के लिए पैसे बचाने में मदद करना है।

एपीवाई पेंशन(APY Pension Scheme) योजना के तहत निवेश की गई राशि के अनुसार पेंशन का भुगतान किया जाता है।

अटल पेंशन योजना के तहत 60 साल बाद इस योजना में न्यूनतम गारंटीड पेंशन राशि 1,000 रुपये, 2,000 रुपये, 3,000 रुपये, 4,000 रुपये और 5,000 रुपये हर महीने होगी। ग्राहक के योगदान पर ही 1 हजार से 5000 रुपए पेंशन तय है।

1,000 से 5,000 रुपये पेंशन पाने के लिए आपको कितना निवेश करना चाहिए।

अटल पेंशन योजना के तहत ग्राहक मासिक, त्रैमासिक, अर्धवार्षिक निवेश कर सकते हैं। इसके अलावा ग्राहक अपने सेविंग अकाउंट, पोस्ट ऑफिस सेविंग अकाउंट को ऑटो डेबिट भी कर सकते हैं।

मासिक, त्रैमासिक और अर्धवार्षिक अंशदान आप अपनी इच्छानुसार योगदान कर सकते हैं। किसी भी प्रश्न के लिए आप एपीवाई पेंशन योजना टोल फ्री नंबर 1800-110-069 पर कॉल कर सकते हैं।

योगदान की समय सीमा क्या है?

अटल पेंशन योजना में मासिक अंशदान के मामले में, यह बचत बैंक खाते या डाकघर बचत बैंक खाते के माध्यम से किसी विशेष महीने की किसी भी तारीख को किया जा सकता है।

पेंशन योजना के त्रैमासिक अंशदान के मामले में तिमाही के पहले महीने के किसी भी दिन और अर्ध-वार्षिक अंशदान के मामले में छमाही के पहले महीने की किसी भी तारीख को APY किया जा सकता है।

एक अक्टूबर से अटल पेंशन योजना के नियम बदलने जा रहे हैं

APY पेंशन योजनाओं में निवेश के नियमों में बदलाव करने जा रही है। इस साल 1 अक्टूबर से करदाता इस योजना का लाभ नहीं ले पाएंगे।

इसका मतलब है कि अगर आपकी सैलरी या सालाना आय पर टैक्स लगता है तो आप APY में निवेश (APY Investment)नहीं कर पाएंगे। अटल पेंशन योजना में निवेश के नए नियमों को लेकर वित्त मंत्रालय ने 20 अगस्त को नोटिफिकेशन जारी किया था।

इसमें कहा गया है कि कोई भी करदाता जो इस साल एक अक्टूबर को या उसके बाद निवेश करता है उसका खाता बंद कर दिया जाएगा। उसका पैसा उसे वापस कर दिया जाएगा।

नए नियमों के बाद नए सवाल

अब सवाल यह है कि अगर किसी व्यक्ति ने इस साल 1 अक्टूबर से पहले APY पेंशन योजना में निवेश करना शुरू कर दिया है, तो क्या उसे हर साल इस योजना में निवेश की गई राशि पर आयकर कटौती का लाभ मिलेगा? इस संबंध में आयकर विभाग की ओर से स्पष्ट रूप से कुछ नहीं कहा गया है। इससे अटल पेंशन योजना में भ्रम की स्थिति पैदा हो गई है।

अटल पेंशन योजना

कुछ विशेषज्ञों का कहना है कि जिन लोगों ने इस साल 1 अक्टूबर से पहले APY में निवेश करना शुरू किया था, उन्हें इस योजना का लाभ मिलता रहेगा। उनका एपीवाई खाता बंद नहीं किया जाएगा।

उन्हें इस एपीवाई पेंशन योजना में उनके योगदान पर कर लाभ मिलता रहेगा। वे आयकर अधिनियम, 1961 की धारा 80CCD(1) के तहत अपनी योगदान राशि पर कर कटौती का दावा करना जारी रखेंगे। सभी पात्र परिवार इस अटल पेंशन योजना का लाभ उठा सकते हैं।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *