Business Idea: घर में हम पूजा के दौरान रुई की बत्ती का इस्तेमाल करते हैं। संध्या वंदना शाम को और सुबह रुई के दीपक से पूजा की जाती है।

लेकिन क्या आपने कभी सोचा है कि, यह कपास का कारोबार आपकी आमदनी का अहम जरिया बन सकता है। दरअसल, भारत में कपास की बत्ती (cotton stick) की भारी मांग है।

अक्सर हमारे घरों में पूजा के लिए रुई की बाती का ही दीपक इस्तेमाल किया जाता है। पहले के समय में घर की महिलाएं घर में पूजा के लिए दीये जलाती थीं, लेकिन इस आधुनिक युग में किसी के पास समय नहीं है कि, वह बाजार से रुई खरीद कर उसकी बत्ती बनाकर दीयों में इस्तेमाल कर सके।

ऐसे में लोग बाजार में बने वत्स खरीद कर उसी का इस्तेमाल करते हैं| लोगों की यह आदत कई लोगों के लिए वरदान रही है और अब बहुत से लोग कपास की बत्ती बनाने का व्यवसाय करके काफी मुनाफा कमा रहे हैं।

विशेष रूप से किसान भाइयों के लिए अतिरिक्त आय अर्जित करने के लिए यह व्यवसाय लाभकारी रहेगा। यह व्यवसाय उन किसानों के लिए विशेष रूप से अनुकूल होगा जो कपास उत्पादन में लगे हुए हैं।

कपास किसान इस व्यवसाय से अच्छी आय अर्जित कर सकते हैं और साथ ही उन्हें कम बाजार मूल्य (Cotton Rate) के कारण कपास की फसल से नुकसान नहीं होगा। ऐसे में आज हम यह जानने की कोशिश करने जा रहे हैं कि, रूई की बत्ती का निर्माण कैसे किया जा सकता है और यह व्यवसाय कैसे शुरू किया जा सकता है।

कपास की बाती के कारोबार में निवेश –

कॉटन विक बिजनेस शुरू करने के लिए आपको ज्यादा खर्च करने की भी जरूरत नहीं है। यदि आपके पास निवेश करने के लिए बहुत कम पैसा है, तो आप इसे मैन्युअल रूप से शुरू कर सकते हैं, लेकिन यदि आपके पास थोड़ा पैसा है, तो आप बैंक से ऋण लेकर और मशीनरी स्थापित करके बाती बनाने का व्यवसाय शुरू कर सकते हैं।

कपास की बाती का व्यवसाय शुरू करने के लिए, आपको पहले बाजार से कपास खरीदने की जरूरत है, फिर आप आसानी से एक दीपक बना सकते हैं और इसे खरोंच से अपने स्थानीय बाजार में भेज सकते हैं। अगर आप किसान हैं और कपास का उत्पादन करते हैं, तो आपको कपास नहीं खरीदना पड़ेगा और इससे आपको फायदा होगा।

कपास बाती बनाने की मशीन

यदि आप मशीनरी लगाकर कपास की बाती का व्यापार बड़े पैमाने पर करना चाहते हैं, तो उसके लिए आपको बाजार में 20 से 35 हजार मशीनें मिल जाएंगी, जिनकी मदद से आप कपास की बाती बनाने का व्यवसाय शुरू कर सकते हैं।

यदि आप निवेश को लेकर आशंकित हैं, तो आप हाथ से बनी वटी को बाजार में भी बेच सकते हैं, जैसा कि, हमने आपको पहले भी समझाया है।

कपास की बाती व्यवसाय की विशेष विशेषताएं

हालाँकि, कपास की बाती का व्यवसाय शुरू करने के लिए किसी आधिकारिक पंजीकरण की आवश्यकता नहीं है, यदि आप अपने व्यवसाय को बड़े पैमाने पर शुरू और विस्तारित करना चाहते हैं, तो आप स्थानीय प्राधिकरण से संपर्क कर सकते हैं।

व्यवसाय लाइसेंस प्राप्त कर सकते हैं। इसके साथ ही आप अपना GST नंबर और TIN नंबर भी प्राप्त कर सकते हैं, जिससे आपके लिए अपने व्यवसाय को व्यापक रूप से फैलाना आसान हो जाएगा। यह व्यवसाय बिना लाइसेंस के शुरू किया जा सकता है, लेकिन भविष्य में व्यवसाय की अपार संभावनाओं और सफलता को देखते हुए लाइसेंस को पंजीकृत करना बेहतर है ताकि आप भविष्य में बिना किसी समस्या के इस व्यवसाय को बड़े पैमाने पर कर सकें।

कपास की बाती बनाने के व्यवसाय में लाभ –

कपास की बाती बनाने के व्यवसाय में आप 30 से 40 हजार रुपये के परिव्यय पर 40% तक लाभ कमा सकते हैं, जिसे आप व्यवसाय में आगे बढ़ने पर बढ़ा सकते हैं। जैसे-जैसे बाजार में आपकी रूई की बत्ती की मांग बढ़ेगी, आपका लाभ मार्जिन भी बढ़ेगा।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *