Ahmednagar Breaking :दोस्तों, जैसा कि आप जानते हैं कि, हाल ही में कुछ दिन पहले महाराष्ट्र राज्य खाद्य आयोग ने आदेश पारित किया है कि, कृषि पंप की बिजली बाधित नहीं होनी चाहिए और ट्रांसफार्मर बंद नहीं होने चाहिए, किसानों को बिना बिजली के बिना रुकावट आपूर्ति की जानी चाहिए।

इस बीच, शरद जोशी विखा मंच शेतकारी एसोसिएशन के पदाधिकारियों ने उक्त सरकारी निर्णय की एक प्रति वरिष्ठ सामाजिक कार्यकर्ता अन्ना हजारे को दी है और संगठन ने मांग की है कि, अन्ना को किसानों के हित के लिए सरकार से पत्र व्यवहार करना चाहिए|

दिलचस्प बात यह है कि, अन्ना ने भी संगठन की मांग का सम्मान किया और कहा कि, वह किसानों के लाभ के लिए सरकार के साथ पत्र व्यवहार करेंगी| इस दौरान संगठन की ओर से महाराष्ट्र राज्य खाद्य आयोग द्वारा जारी आदेश की जानकारी अन्ना को दी गई| उस समय अन्ना ने कहा था कि, इससे लाखों किसानों को लाभ होगा।

दोस्तों, हम यहां आपकी जानकारी के लिए बताना चाहेंगे कि, अन्ना हजारे को पुणे धुले और बीड जिले के क्षेत्रीय अध्यक्ष द्वारा संयुक्त रूप से दायर याचिका पर लिए गए निर्णय के बारे में सूचित किया गया था। एक नवंबर को शरद जोशी विखा मंच शेतकर संगठन के पदाधिकारियों ने अन्ना हजारे के रालेगणसिद्धि स्थित आवास पर जाकर किसानों के हित में अन्ना हजारे से मुलाकात की|

साथियों, इस अवसर पर शरद जोशी विचार मंच शेतकारी संगठन ने भी अन्ना हजारे से किसानों के कल्याण के लिए एक बहुमूल्य और महत्वपूर्ण मांग रखी। दोस्तों, दरअसल महाराष्ट्र राज्य खाद्य आयोग के इस आदेश पर कि किसान कृषि पंप का बिजली का कनेक्शन न काटें, संगठन ने मांग की है कि, राज्य सरकार तुरंत सर्कुलर निकाल कर महावित्रा को दे और इसके लिए अन्ना हजारे को सरकार को पत्र लिखकर सरकार पर दबाव बनाना चाहिए।

अन्ना ने यह भी आश्वासन दिया है कि, वह इसके लिए सरकार से पत्र व्यवहार करेंगी| निश्चित रूप से महाराष्ट्र राज्य खाद्य आयोग का यह आदेश किसानों के हित में है और अब यह देखा जा रहा है कि, वरिष्ठ सामाजिक कार्यकर्ता अन्ना हजारे किसानों के कल्याण के लिए मैदान में उतरेंगे।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *