Kanda Bajarbhav : खरीफ सीजन इस साल किसानों के लिए बड़ी चुनौती रहा है| भारी बारिश और वापसी की बारिश के कारण इस साल खरीफ सीजन की लगभग सभी फसलों के उत्पादन में भारी कमी आने वाली है| भारी बारिश से खरीफ सीजन की फसलें बुरी तरह प्रभावित हुई हैं, वहीं वापसी की बारिश ने किसानों की घास को खत्म कर दिया है|

इससे खरीफ सीजन की मुख्य फसल प्याज की फसल को भी काफी नुकसान हुआ है। साथ ही प्याज की चालीसियों से निकाला गया प्याज भी बारिश के कारण बह गया है, जबकि कहीं भारी बारिश के कारण प्याज की चालीसियों में रखा प्याज खराब हो गया है|

एक तरफ अधिक बारिश से उत्पादन में कमी आ रही है तो दूसरी तरफ कम बारिश से प्याज के उत्पादन में कमी आएगी। ऐसी ही स्थिति नंदुरबार जिले में भी देखने को मिल रही है। नंदुरबार जिले में सबसे ज्यादा किसान प्याज की खेती कर रहे हैं। हालांकि, नंदुरबार जिले के अधिकांश इलाकों में बारिश के मौसम में संतोषजनक बारिश नहीं हुई है। नतीजतन, अधिकांश जगहों पर प्याज की खेती उम्मीद के मुताबिक नहीं दिख रही है।

कहा जा रहा है कि प्याज के उत्पादन में कमी आएगी क्योंकि जिले में प्याज की खेती काफी कम हुई है| उत्पादन में कमी का मतलब प्याज की कीमत में बढ़ोतरी है। इससे जहां किसानों को बढ़ी हुई दर से राहत मिलेगी, वहीं आम लोगों की आंखों से पानी छलक पड़ेगा।

जबकि टैरिफ में वृद्धि से किसानों को होने वाले नुकसान की भरपाई करने में मदद मिलेगी, आम आदमी का रसोई का बजट चरमराने की संभावना है। खरीफ सीजन में नंदुरबार जिले में हर जगह प्याज का उत्पादन घटा है और अब आने वाले दिनों में प्याज की कीमत में बढ़ोतरी के संकेत मिल रहे हैं|

नंदुरबार तालुका विशेष रूप से प्याज उत्पादन के लिए जाना जाता है। तालुक में खरीफ सीजन लाल प्याज की खेती बड़े पैमाने पर की जाती है। लेकिन चूंकि इस साल बारिश ने करवट ली है, इसलिए प्याज का उत्पादन घटेगा और प्याज के दाम बढ़ेंगे| इससे थोक बाजार में प्याज के दाम बढ़ेंगे और खुदरा बाजार में भी प्याज की किरकिरी होगी।

कुल मिलाकर जानकार नंदुरबार जिले में प्याज की कीमतों में तेजी की संभावना जता रहे हैं| राज्य के अन्य हिस्सों में भी प्याज का उत्पादन घटने की संभावना है। साथ ही प्याज की चाली में रखा पुराना प्याज भी खत्म हो रहा है| इसके अलावा पुराना प्याज काफी हद तक खराब हो जाने से भी किसान प्रभावित हुए हैं।

एक तरफ नए लाल प्याज के उत्पादन में कमी आ रही है और दूसरी तरफ पुराना प्याज काफी हद तक खराब हो चुका है, ऐसे में किसानों पर दोहरी मार पड़ी है|लेकिन जैसा कि विशेषज्ञ भविष्यवाणी कर रहे हैं कि अगले कुछ दिनों में प्याज के दाम और बढ़ेंगे, ऐसी तस्वीर है कि किसानों को कुछ राहत मिलेगी। किसानों के मुताबिक अगर प्याज के दाम बढ़ते हैं तो भी उन्हें ज्यादा फायदा नहीं होगा, लेकिन इससे नुकसान की भरपाई करने में मदद मिलेगी|

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *