Agriculture News : आज वैश्विक बाजार से किसानों के लिए अच्छी खबर है। अच्छी खबर यह है कि वैश्विक बाजार में सोयाबीन मील और सोयाबीन की कीमतों में तेजी आई है। यही नहीं, सोयाबीन तेल की कीमतों में भी आज सुधार हुआ। इस स्थिति का घरेलू बाजार पर कोई तत्काल प्रभाव महसूस नहीं हुआ है।

लेकिन कुछ जानकारों ने कहा है कि यह स्थिति भविष्य में सोयाबीन की कीमतों के लिए पूरक होगी। वैश्विक बाजार में एक ओर सोयाबीन में तेजी रही, लेकिन घरेलू बाजार में कीमतें जस की तस बनी रहीं। इससे किसान भ्रमित हैं। गौरतलब है कि विश्व बाजार में सोयाबीन के भाव में भारी उतार-चढ़ाव देखने को मिल रहा है।

कल, दर को एक सप्ताह के उच्च स्तर के रूप में उद्धृत किया गया था, लेकिन तब से इसमें गिरावट आई है। आज फिर रेट बढ़ गए हैं। दिलचस्प बात यह है कि आज विश्व बाजार में सोयामील पिछले चार महीनों में सबसे ज्यादा कीमत पर पहुंच गया है। मौजूदा समय में सोयाबीन और सोयाबीन खली में तेजी है। लेकिन आज सोयाबीन तेल की कीमतों पर दबाव बना हुआ है।

वैश्विक बाजार में सोयाबीन मील और सोयाबीन ऊंचे दामों पर बिक रहा है, ऐसे में घरेलू बाजार में भी बाजार भाव में तेजी आने की संभावना थी। लेकिन आज घरेलू दरों में स्थिरता देखी गई है। आज देश में सोयाबीन की कीमत औसतन 5,250 से 5,500 रुपये प्रति क्विंटल रही। जबकि प्रसंस्करण संयंत्रों की दर 5000 रुपये से 50600 रुपये के बीच है।

महाराष्ट्र में औसत दरें 5,250 रुपये से 5,550 रुपये के बीच हैं। जबकि प्रोसेसिंग प्लांट के रेट औसतन 5 हजार 600 से 5 हजार 750 रुपये तक रहे। इस बीच, विशेषज्ञों ने भविष्यवाणी की है कि विश्व बाजार में सोयाबीन की कीमतों में सुधार के लिए पूरक स्थितियां सामने आई हैं। इसका फायदा घरेलू सोयाबीन किसानों को होगा और जानकारों का कहना है कि देश में सोयाबीन के भाव में तेजी आने की संभावना है|

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *