Soybean Bajarbhav : सोयाबीन को पिछले साल बाजार में अच्छी कीमत (Soybean Rate) मिली। इसके कारण इस वर्ष निम्न क्षेत्रों में सोयाबीन की खेती में वृद्धि हुई है।

महाराष्ट्र (Maharashtra) में सोयाबीन की खेती का रकबा भी काफी बढ़ गया है। राज्य में विदर्भ, मराठवाड़ा, पश्चिम महाराष्ट्र और खानदेश में सोयाबीन की बड़ी मात्रा में बुवाई की गई है। अब पूरे राज्य में सोयाबीन की कटाई का काम चल रहा है|

इस बीच सोयाबीन सीजन शुरू हुए एक महीना बीत चुका है। हालांकि इस सीजन सोयाबीन बाजार में कीमतों पर शुरुआत से ही दबाव बना हुआ है। इससे किसानों का सिरदर्द बढ़ता जा रहा है।

पिछले साल सोयाबीन को उच्च बाजार मूल्य मिला था, इसलिए किसान इस साल भी सोयाबीन का अच्छा बाजार मूल्य प्राप्त करना चाहते थे, लेकिन अंतरराष्ट्रीय बाजार में सोयाबीन की मांग में कमी के कारण सोयाबीन के बाजार मूल्य में भारी गिरावट आई है।

इस समय हमारे राज्य में सोयाबीन का बाजार भाव 5,000 रुपये प्रति क्विंटल से लेकर 5,500 रुपये प्रति क्विंटल के बीच है। लेकिन अब सोयाबीन किसानों के लिए एक राहत भरी खबर है। मध्य प्रदेश राज्य से सोयाबीन किसानों को बड़ी राहत मिली है। साथियो, मध्य प्रदेश राज्य की उज्जैन कृषि उपज मंडी समिति में सोयाबीन का बाजार भाव 15 हजार 301 रुपये प्रति क्विंटल है।

निश्चित रूप से उज्जैन कृषि उपज मंडी समिति में प्राप्त यह बाजार मूल्य अधिकतम बाजार मूल्य है। मध्य प्रदेश राज्य की अन्य बाजार समितियों में सोयाबीन का बाजार भाव करीब 5,500 रुपये प्रति क्विंटल है।

हमारे महाराष्ट्र में भी सोयाबीन का बाजार भाव साढ़े पांच हजार रुपए प्रति क्विंटल तक मिल रहा है। निश्चित रूप से उज्जैन में सोयाबीन का बाजार भाव 15,000 रुपये प्रति क्विंटल अधिक है, ऐसे में सोयाबीन किसानों के चेहरे पर संतोष का भाव है।

लेकिन जानकार लोगों के मुताबिक सोयाबीन को मिलने वाला यह बाजार भाव भ्रामक है क्योंकि सोयाबीन का सामान्य बाजार भाव अभी भी करीब 55000 रुपये प्रति क्विंटल तय है| हालांकि इससे किसानों के मन में उम्मीद जगी है कि, भविष्य में सोयाबीन के दाम बढ़ सकते हैं।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *