Wheat Rate : रबी मौसम में गेहूँ एक प्रमुख नकदी फसल है। इसकी खेती व्यापक रूप से भारत में हरियाणा पंजाब राजस्थान जैसे राज्यों में देखी जाती है। महाराष्ट्र में भी गेहूँ की खेती का क्षेत्र विशेष रूप से उल्लेखनीय है।

इस बीच गेहूं उत्पादकों के लिए एक अच्छी खबर है। बाजार विश्लेषकों ने गेहूं की कीमतों में बड़ा उछाल आने का अनुमान जताया है। इस समय बाजार में गेहूं के भाव में उतार-चढ़ाव बना हुआ है।

हालांकि आने वाले समय में गेहूं के भाव में और तेजी आने की संभावना है। रुसो-यूक्रेन युद्ध के दौरान गेहूं की विदेशी मांग अभी तक पूरी नहीं हुई है। मांग अधिक होने के कारण बाजार में गेहूं की अच्छी पकड़ है और गेहूं के भाव में तेजी देखने को मिल रही है| बाजार के जानकारों की माने तो गेहूं की कीमतों में और तेजी आ सकती है।

जैसा कि कुछ कृषि विशेषज्ञों ने भविष्यवाणी की है कि आने वाले वर्षों में गेहूं की कीमत 3000 रुपये तक पहुंच सकती है, आने वाले वर्षों में गेहूं उत्पादकों के लिए सुनहरे दिन होंगे। निश्चित रूप से इस रबी सीजन में अपने खेतों में गेहूं बोने वाले किसानों के लिए यह अच्छी खबर है। किसानों को भी भविष्य में गेहूं के अच्छे दाम मिलने की उम्मीद है अगर गेहूं इसी तरह बढ़ता रहा।

गेहूं के भाव तीन हजार के ऊपर जाएंगे

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, गेहूं की कीमतों में 40/50 की बढ़ोतरी होगी। इसी रफ्तार से गेहूं में धीरे-धीरे तेजी आएगी। मिल गुणवत्ता वाले गेहूं के जल्द ही 3000 रुपये के स्तर को पार करने की उम्मीद है। यह उम्मीद करना गलत होगा कि निकट भविष्य में नया गेहूं भी बड़ी मात्रा में बाजार में प्रवेश करेगा और इस तरह मंदी की ओर ले जाएगा।

अभी तक बड़े-बड़े गोदामों में एमएनसी कंपनियों ने बुकिंग शुरू कर दी है और दूसरी तरफ अडानी जैसी बड़ी कंपनियों ने एफसीआई के गोदामों में स्टॉक का काम अपने हाथ में ले लिया है। ऐसे में बाजार में स्टॉकिस्ट भी अपने स्तर पर तैयार हैं। आने वाला साल 2023 गेहूं कारोबार के लिए हॉट फेवरेट रहेगा।

गेहूं की मौजूदा कीमत क्या है?

नागपुर कृषि उपज मंडी समिति में गेहूं का भाव 1790 रुपये से 2120 रुपये प्रति क्विंटल के बीच है| जबकि शरबती गेहूं का भाव 2840 रुपए प्रति क्विंटल है।

अकोला मंडई में गेहूं का भाव 1765 से 2230 रुपये प्रति क्विंटल है। जबकि शरबती गेहूं का भाव 2900 रुपये प्रति क्विंटल पर कायम है।

करंजा मंडई में गेहूं का भाव 1975 रुपये से लेकर 2220 रुपये प्रति क्विंटल तक है।

हम आपकी जानकारी के लिए यहां बताना चाहेंगे कि केंद्र सरकार ने वर्ष 2022-23 के लिए गेहूं का गारंटीकृत मूल्य 2015 रुपये प्रति क्विंटल तय किया है| यानी मौजूदा स्थिति यह है कि महाराष्ट्र में गेहूं को गारंटीकृत कीमत से ज्यादा कीमत मिल रही है|

इस बीच जानकारों ने अनुमान जताया है कि गेहूं की कीमत 3000 रुपये प्रति क्विंटल से अधिक रहेगी, ऐसे में संभावना है कि इस सीजन में गेहूं को गारंटीकृत मूल्य से करीब 1000 रुपये प्रति क्विंटल अधिक कीमत मिलेगी| जाहिर तौर पर इससे गेहूं उत्पादकों को भारी आर्थिक लाभ होगा।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *