Business Idea : पिछले साल सोयाबीन को ऐतिहासिक रिकॉर्ड बाजार भाव मिला था। इससे इस साल सोयाबीन की खेती का रकबा बढ़ा है। लेकिन सोयाबीन को उम्मीद के मुताबिक भाव नहीं मिला। मौजूदा समय में सोयाबीन बाजार भाव साढ़े पांच हजार रुपये प्रति क्विंटल से अधिक पर बिक रहा है, लेकिन सोयाबीन को पिछले साल की तरह रिकॉर्ड भाव नहीं मिल पा रहा है|

इसके अलावा, इस साल अनियमित बारिश के कारण किसानों को सोयाबीन का कम उत्पादन होगा। इनामी किसान भाई अगर कम दाम में सोयाबीन बेचेंगे तो उनके पास कुछ नहीं बचेगा। इससे किसान अब सोयाबीन का भंडारण करने लगे हैं और अच्छी कीमत का इंतजार कर रहे हैं।

आज हम यहां सोयाबीन किसानों के लिए एक अद्भुत बिजनेस आइडिया लेकर आए हैं। किसानों को अक्सर सोयाबीन बेहद कम दामों पर बेचना पड़ता है। इससे किसानों को हजारों नहीं बल्कि लाखों रुपए का जुर्माना भरना पड़ रहा है, लेकिन अगर सोयाबीन उत्पादक सोयाबीन पर प्रसंस्करण उद्योग शुरू कर दें तो उनके नुकसान से बचा जा सकेगा और सोयाबीन की फसल का मुनाफा भी बढ़ेगा।

दरअसल, बाजार में दूध की मांग दिन-ब-दिन बढ़ती जा रही है। बढ़ती जनसंख्या को देखते हुए तस्वीर यह है कि पशुओं से प्राप्त होने वाला दूध अपर्याप्त होता जा रहा है।इससे बाजार में दूध की भारी किल्लत हो गई है और दूध की कीमत दिन-ब-दिन बढ़ती जा रही है। ऐसे में अगर किसान मौके का फायदा उठाकर सोया मिल्क बनाने का बिजनेस शुरू करते हैं तो यह बिजनेस उनके लिए फायदे का सौदा साबित होगा|

सोया दूध में अन्य सामान्य दूध की तुलना में अधिक पोषक तत्व होने का दावा किया जाता है, जिसके कारण इस दूध की मांग भी तेजी से बढ़ी है। जाहिर है बाजार में मांग अच्छी है, सोया दूध बनाने का व्यवसाय किसानों के लिए लाभदायक रहने वाला है| तो आज हम सोया मिल्क बिजनेस के बारे में संक्षिप्त जानकारी जानने की कोशिश करने जा रहे हैं।

कैसे तैयार होता है दूध सोयाबीन से दूध बनाने के लिए सबसे पहले सोयाबीन को गर्म पानी में 5 से 6 घंटे के लिए भिगो कर रखना होता है| इसके बाद सोयाबीन को गर्म पानी से निकालकर ठंडे तापमान पर 10-12 घंटे के लिए रख दिया जाता है। इसके बाद सोयाबीन को कुकिंग मशीन में डालकर तेजी से गर्म किया जाता है और दूध निकल जाता है।

इस दूध को पैक करके बाजार में बेचा जा सकता है। सोयाबीन के बीजों को सोयाबीन की तुलना में तीन गुना अधिक सामान्य पानी में 4 से 6 घंटे के लिए गर्म तापमान पर एक डिब्बे में भिगोने की आवश्यकता होती है।इसके बाद इसे 8 से 12 घंटे तक ठंडे तापमान पर रखना होता है।

फिर भीगी हुई सोयाबीन को ग्राइंडर और कुकिंग मशीन में डालकर 120 डिग्री पर 10 मिनट के लिए रख दें| इसके बाद आप आउटलेट की दीवार खोलकर अपनी जरूरत के अनुसार दूध पैक कर सकते हैं। बाजार में सोया मिल्क करीब 50 रुपये प्रति लीटर बिक रहा है। इस तरह आप रोजाना सोया मिल्क बनाकर अच्छी आमदनी कर सकते हैं और यह आमदनी एक महीने में लाखों रुपए हो सकती है।

सिर्फ एक मशीन से तैयार होगा सोया मिल्क सोया मिल्क बनाने के बिजनेस के लिए 100 वर्ग मीटर जगह की जरूरत होती है| यदि कोई व्यक्ति व्यवसाय शुरू करना चाहता है, उसके पास अपना खुद का स्थान नहीं है, तो वह पट्टे पर जमीन लेकर इस व्यवसाय को शुरू कर सकता है। इसके अलावा, सोया दूध तैयार करने के लिए सोयाबीन, चीनी, कृत्रिम स्वाद, सोडियम बाइकार्बोनेट और पैकेजिंग सामग्री की जरूरत होती है।

हम आपकी जानकारी के लिए यहां बताना चाहेंगे कि अब सोया मिल्क बनाने के लिए बाजार में कुछ ऐसी मशीनें उपलब्ध हैं जो एक घंटे में 100 लीटर तक दूध बना सकती हैं। सेंट्रल इंस्टीट्यूट ऑफ एग्रीकल्चरल इंजीनियरिंग, भोपाल और मैसर्स रॉयल प्लांट सर्विसेज, दिल्ली ने एक मशीन विकसित की है।

सोया दूध और सोया पनीर बनाने की मशीन

झारखंड के रांची जिले के कामरे में स्थित मैसर्स श्री श्यामा कली एंटरप्राइजेज ने दूध और टोफू के लिए एक स्वचालित सोया दूध मशीन विकसित की है। इस मशीन से प्रतिदिन सत्तर लीटर दूध और दस किलो पनीर तैयार किया जा सकता है।

एक लीटर सोया मिल्क की कीमत 120 रुपए से लेकर 150 रुपए तक है। बाजार में सोयाबीन पनीर भी 250 से 300 रुपये तक बिक रहा है। इस मशीन की कीमत एक लाख 70 हजार रुपए है। निश्चित तौर पर इस मशीन से एक लाख 70 हजार रुपए निवेश कर अच्छी आय अर्जित करना संभव होगा।

यदि आप इस मशीन के बारे में अधिक जानकारी चाहते हैं, तो आप इंडियामार्ट वेबसाइट पर जा सकते हैं और मशीन के बारे में अधिक जानने के लिए सोया मिल्क मेकिंग मशीन टाइप कर सकते हैं। आप कई अन्य सोया दूध बनाने की मशीन भी देख सकते हैं।

मशीनों की तुलना कर सकते हैं। और जानकार लोगों की सलाह लेकर आप इस बिजनेस में अपना डेब्यू कर सकते हैं। जिन मशीनों का हमने ऊपर उल्लेख किया है, उनके बारे में अधिक जानने के लिए यहां क्लिक करें।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *