जैसा कि हम जानते हैं कि जब खेत में फसल होती है तो जंगली जानवर अक्सर फसल को नष्ट कर देते हैं। किसानों को भारी नुकसान होता है। जंगली जानवरों से फसल को होने वाले नुकसान को रोकने के लिए किसान कई उपाय करते हैं।

लेकिन अक्सर ये सभी उपाय विफल हो जाते हैं। इसमें कई किसान भाई अपने खेतों की बाड़ लगाते हैं। लेकिन हर किसान बाड़ लगाने का खर्च वहन नहीं कर सकता। तो इस पृष्ठभूमि में सरकार की टेलीकनेक्शन सब्सिडी योजना बहुत फायदेमंद है। इन लेखों में हम इस योजना तारबंदी सब्सिडी योजना के बारे में संक्षिप्त जानकारी लेंगे|

किसानों द्वारा खेत के चारों ओर लगाई जाने वाली तार की बाड़ के लिए सरकार 50 प्रतिशत सब्सिडी देती है। इस योजना का मुख्य उद्देश्य किसानों की फसलों को आवारा पशुओं से बचाना है।

अक्सर ऐसे आवारा जानवर खेतों में लगी फसलों को नुकसान पहुंचाकर किसानों को भारी नुकसान पहुंचाते हैं। इसलिए इस समस्या को सामने रखते हुए सरकार इस योजना के माध्यम से किसानों को 40 से 50 हजार रुपये की आर्थिक सहायता प्रदान कर रही है ताकि किसान खेतों की बाड़ लगा सकें। यानी इस योजना में लगभग 50% सब्सिडी दी जाती है।

अनुदान कितना है?

तार फेंसिंग योजना के लिए किसानों को चालीस हजार रुपये दिए जाएंगे। इस योजना के तहत 50 प्रतिशत सब्सिडी सरकार देगी और 50 प्रतिशत लागत किसान को खुद वहन करनी होगी| इस योजना से प्राप्त राशि सीधे किसानों के बैंक खाते में जमा की जाएगी।

इस योजना से किसे लाभ?

1- जिस किसान के पास खेती के लिए 0.5 एकड़ जमीन है वह इस योजना का लाभ उठा सकता है।

2- 400 मीटर वायर बैन के बाद किसान को सब्सिडी दी जाती है।

3- देश के सभी छोटे और सीमांत किसान इस योजना का लाभ उठा सकेंगे।

4- आवेदन करने के लिए किसान बैंक खाते को आधार कार्ड से लिंक करना होगा।

जोनिंग योजना के लिए आवश्यक दस्तावेज

जो किसान किसान आवेदन पत्र के साथ आवेदन करना चाहते हैं, आवेदक का वोटर कार्ड, निवास प्रमाण, मोबाइल नंबर और पासपोर्ट साइज फोटो, राशन कार्ड और भूमि पंजीकरण की कॉपी यानी 7वीं और 8वीं जमीन की जरूरत है।

कहां आवेदन करें?

1- यदि आप तारबंदी योजना के तहत लाभ उठाना चाहते हैं तो आपको अपने नजदीकी लोक सेवा केंद्र यानी सीएससी केंद्र पर जाना होगा। आवेदक कृषि विभाग की आधिकारिक वेबसाइट पर जाकर भी आवेदन प्रक्रिया को पूरा कर सकते हैं।

2- उसके बाद आपको अपने एजेंट को ताराबंदी योजना फॉर्म भरने के लिए सभी जरूरी दस्तावेज देने होंगे। उसके द्वारा मांगी गई सभी जानकारी और आवश्यक दस्तावेज अपलोड करना आवश्यक है।

3- आवेदन पत्र भरने के बाद अंत में आपको आवेदन की रसीद दी जाती है। इसके जरिए आप अपने आवेदन की स्थिति की जांच कर सकते हैं।

4- इसके बाद आपका आवेदन और सभी दस्तावेजों का सत्यापन कार्यालय में अधिकारियों द्वारा पूरा किया जाएगा।

5- आवेदन के पूर्ण सत्यापन के बाद आवेदक को एसएमएस के माध्यम से जानकारी दी जाती है और फिर आपको इस योजना का लाभ दिया जाता है।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *