Maharashtra Rain Alert: भारतीय मौसम विभाग के जरिए बलीराजा की सिरदर्द बढ़ाने वाली खबर आ रही है| बंगाल की खाड़ी में विकासशील तंत्र के प्रभाव ने महाराष्ट्र में बेमौसम बारिश के लिए अनुकूल वातावरण तैयार किया है।

प्रदेश में फिलहाल न्यूनतम तापमान में बढ़ोतरी हुई है और ठंड गायब हो गई है। ज्यादातर जगहों पर बादल छाए हुए हैं। लिहाजा बारिश का डर किसानों की नींद उड़ा रहा है। किसानों का मानना है कि मौजूदा माहौल रबी की फसल के लिए उपयुक्त नहीं है।

राज्य में दिन में बादल छाए रहने और गर्मी का प्रकोप बढ़ गया है। 5 तारीख को महाराष्ट्र के कई जिलों में बारिश देखने को मिली| बारिश मुख्य रूप से मध्य महाराष्ट्र में देखी गई। नासिक जिले के कलवन, सताना, मालेगांव, देओला इलाकों में बेमौसम बारिश से किसानों को भारी नुकसान हुआ है|

इस बीच, भारतीय मौसम विभाग ने भविष्यवाणी की है कि राज्य में एक बार फिर बेमौसम बारिश होगी। मौसम विभाग की यह भविष्यवाणी किसानों की चिंता बढ़ा रही है। खरीफ सीजन में बारिश की अनियमितता से किसानों को भारी नुकसान हुआ है और वापसी बारिश के कारण घास उखड़ गई है|

इस बीच रबी सीजन शुरू हो गया है और किसान चिंतित हैं क्योंकि रबी सीजन में भी बारिश नहीं जा रही है। मौसम विभाग के मुताबिक शुक्रवार से कोंकण और मध्य महाराष्ट्र में बारिश की संभावना है| शुक्रवार को कोंकण क्षेत्र में बारिश होगी और शनिवार को मध्य महाराष्ट्र में बारिश की संभावना है।

दरअसल, दक्षिण अंडमान सागर के पास बंगाल की खाड़ी में एक कम दबाव का क्षेत्र बना है। इसकी तीव्रता बढ़ रही है और विभाग ने भविष्यवाणी की है कि आज पूर्वी तट के पास खाड़ी में एक चक्रवात बनेगा।

कल सुबह तक चक्रवात उत्तरी तमिलनाडु और दक्षिण आंध्र प्रदेश के तट की ओर बढ़ जाएगा। इस तूफान के प्रभाव से पूर्वी तट पर मौसम विभाग की ओर से तेज हवाओं के साथ बारिश की चेतावनी जारी की गई है| महाराष्ट्र के कोंकण और मध्य प्रदेश में बारिश की संभावना को देखते हुए किसानों से सतर्क रहने की अपील की जा रही है|

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *