Soybean Pik Vima : मित्रों, प्राकृतिक आपदाओं के कारण किसानों को अक्सर नुकसान उठाना पड़ता है। अक्सर भारी बारिश, सूखे या इसी तरह की अन्य प्राकृतिक आपदाओं के कारण किसानों की फसलों को नुकसान होता है। ऐसे में किसानों को हुए नुकसान की भरपाई के लिए फसल बीमा योजना शुरू की गई है|

उक्त पिक बीमा योजना केंद्र द्वारा प्रायोजित है और इस योजना का नाम प्रधानमंत्री पिक बीमा योजना है। फसल बीमा योजना के तहत फसल खराब होने पर किसानों को मुआवजा दिया जाता है। ऐसे में किसानों को फसल बीमा लेना होगा।

दोस्तों, आज हम यह जानने जा रहे हैं कि, जिन किसानों ने फसल बीमा लिया है और प्राकृतिक आपदाओं के कारण नुकसान हुआ है, फसल बीमा के लिए दावा कैसे करें।

दोस्तों, दरअसल प्राकृतिक आपदा से नुकसान होने की स्थिति में फसल बीमा योजना का लाभ प्राप्त करने के लिए फसल बीमा कराने वाले किसानों को 72 घंटे के अंदर फसल बीमा के लिए क्लेम करना होता है| आज हम एंड्रॉइड मोबाइल के माध्यम से पिक इंश्योरेंस के लिए क्लेम करने के तरीके के बारे में जानने जा रहे हैं।

पिक इंश्योरेंस के लिए दावा प्रक्रिया

फसल बीमा का दावा करने के लिए, संबंधित किसानों को पहले अपने एंड्रॉइड मोबाइल पर फसल बीमा नामक एप्लिकेशन डाउनलोड करना चाहिए। यह एप्लीकेशन प्ले स्टोर पर फ्री में उपलब्ध है।

एप्लीकेशन को डाउनलोड करने के बाद इस एप्लीकेशन को ओपन करें। एप्लीकेशन ओपन होने के बाद बिना लॉगइन के जारी रखें के विकल्प पर क्लिक करें।

इसके बाद क्रॉप लॉस ऑप्शन पर क्लिक करें।

फिर किसानों को फसल हानि सूचना विकल्प पर क्लिक करना होगा उसके बाद किसानों को अपना मोबाइल नंबर दर्ज करना होगा। मोबाइल नंबर डालने के बाद सेंड ओटीपी ऑप्शन पर क्लिक करें।

इसके बाद आपके द्वारा डाले गए मोबाइल नंबर पर एक ओटीपी भेजा जाएगा। उस ओटीपी को वहां दर्ज करना है।

इसके बाद आपके सामने एक नया पेज खुलेगा। किसानों को उस स्थान पर फसल बीमा के संबंध में विवरण भरना होगा। उदाहरण के लिए, किसानों द्वारा किस मौसम का फसल बीमा निकाला गया है, यानी खरीफ या रबी का विवरण चुनना होगा। इसके बाद फसल बीमा के वर्ष का चयन करना होता है।

उसके बाद आपको प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना योजना के नाम का चयन करना होगा। उसके बाद संबंधित किसानों को राज्य का चयन करना होगा। इतना सब करने के बाद आपको सेलेक्ट ऑप्शन पर क्लिक करना है। इसके बाद एक नया पेज खुलेगा। इस स्थान पर किसान भाइयों ने जिस स्थान पर आवेदन भरा है उसका उल्लेख किया जाना चाहिए।

ज्यादातर किसान सीएससी केंद्र पर आवेदन भरते हैं। ऐसे में उस स्थान पर सीएससी सेंटर का चयन करना होता है। इसके बाद डू यू हैव ए पॉलिसी नंबर के विकल्प पर क्लिक करें। इस स्थान पर किसानों को फसल बीमा के लिए आवेदन करते समय उन्हें दिया गया पॉलिसी नंबर दर्ज करना होगा। पॉलिसी नंबर दर्ज करने के बाद किए गए विकल्प पर क्लिक करें।

इसके बाद आपको पॉलिसी नंबर को टच करना होगा। उसके बाद उक्त किसान भाइयों की सारी डिटेल खुल जाएगी। उस स्थान पर किसान उस फसल का चयन करना चाहते हैं जो क्षतिग्रस्त हो गई है।

इसके बाद एक पॉप अप विंडो खुलेगी जिसमें लिखा होगा कि, क्रॉप इंश्योरेंस को इस डिवाइस लोकेशन तक पहुंचने की अनुमति दें। उस स्थान पर आपको ऐप का उपयोग करते हुए क्लिक करना होगा अब किसानों के सामने रिपोर्ट घटना नामक एक नया पेज खुल जाएगा।

उस स्थान पर आपको घटना के प्रकार के विकल्प पर क्लिक करना है। इस जगह पर आपको किस वजह से फसल को नुकसान पहुंचा उस पर क्लिक करना है। उसके बाद नुकसान की तारीख चुननी होती है। घटना के समय फसल की उस स्थिति के तहत, आपको नुकसान की घटना के समय फसल की स्थिति का चयन करना होगा।

उसके बाद फसल के अनुमानित नुकसान को प्रतिशत विकल्प में अपेक्षित नुकसान में दर्ज करना होगा। उसके बाद फसल बीमा दावा सफलतापूर्वक पूरा किया जाएगा। उसके बाद संबंधित किसानों को डॉकेट आईडी मिल जाएगी। इस आईडी के जरिए किसान अपने फसल बीमा की स्थिति जान सकेंगे। इस आईडी को बनाए रखा जाना चाहिए।

फसल बीमा क्लेम करने के बाद संबंधित बीमा कंपनी के अधिकारी मौके पर पहुंचकर फसल बीमा का निरीक्षण करेंगे| उसके बाद अधिकारी फसल को कितना नुकसान हुआ है। इस संबंध में विस्तृत जानकारी बीमा कंपनी के साथ अपडेट की जाएगी। इसके बाद संबंधित किसानों को फसल बीमा मुआवजे का भुगतान किया जाता है।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *