Farmer Scheme : भारत एक कृषि प्रधान देश है। देश की आधी से ज्यादा आबादी कृषि पर आधारित है। ऐसे में किसानों के लिए कृषि को सुविधाजनक बनाने के लिए केंद्र सरकार के साथ-साथ राज्य सरकार द्वारा भी विभिन्न योजनाओं को लागू किया जाता है।

सरकार का उद्देश्य इस योजना के माध्यम से किसानों के जीवन में वित्तीय स्थिरता लाना है। जैसा कि आप जानते हैं कि खेती बहुत पूंजी गहन है। बिना पैसे के खेती करना असंभव है। हाल ही में मिट्टी के कटाव की खेती संभव हो गई है लेकिन बाजार में ऐसी कोई तकनीक उपलब्ध नहीं है जो बिना पैसे के की जा सके।

दूसरी ओर, कृषि में प्रौद्योगिकी के उपयोग के लिए धन की आवश्यकता होती है। कुल मिलाकर क्या पैसा कृषि के बिना नहीं हो सकता। लेकिन पिछले कई सालों से प्रकृति की मार से किसानों को खेती के लिए पर्याप्त पैसा नहीं मिल रहा है| ऐसे में अगर किसानों को खेती करते समय पैसों की जरूरत हो तो वे बैंक से कर्ज ले सकें और कर्ज के लिए ज्यादा मेहनत न करनी पड़े|

इसके अनुरूप, सरकार द्वारा किसान क्रेडिट कार्ड नामक एक महत्वाकांक्षी योजना शुरू की गई है। सरकार कह रही है कि इस योजना का मुख्य उद्देश्य किसानों को सस्ती दरों पर कर्ज मुहैया कराना है| किसान क्रेडिट कार्ड पर ऋण राशि समय से पहले चुकाने पर किसानों को सब्सिडी का भी प्रावधान है। किसान क्रेडिट कार्ड बनवाना भी बेहद आसान है।

क्रेडिट कार्ड के फायदों को देखते हुए आज हम जानते हैं कि किसान क्रेडिट कार्ड एक योजना है, लेकिन वास्तव में कैसे, किसान क्रेडिट कार्ड कैसे बनवाएं, इसके लिए कौन-कौन से दस्तावेज चाहिए, पात्रता क्या हैं, कहां आवेदन करें, कहां जमा करें आवेदन पत्र? ऐसी ही बारीकियां हम जानने वाले हैं।

किसान क्रेडिट कार्ड योजना केंद्र सरकार की महत्वाकांक्षी योजना है। इस योजना के तहत किसानों को 50,000 से 3 लाख तक का ऋण केवल 4 प्रतिशत ब्याज की सस्ती दर पर प्रदान किया जाता है। लोन की अवधि 1 साल से 5 साल तक हो सकती है। ऋण को 6 महीने की अवधि के लिए 4% की ब्याज दर और 1 वर्ष की अवधि के लिए 7% की ब्याज दर से चुकाया जा सकता है।

केसीसी पर कृषि ऋण लेने वाले किसानों को सरकार द्वारा ब्याज में 2 प्रतिशत की छूट दी जाती है। वहीं, लोन की रकम समय पर चुकाने पर सरकार 3 फीसदी की अतिरिक्त छूट देती है। आरबीआई की वेबसाइट के अनुसार, किसान किसी भी वाणिज्यिक बैंक, आरआरबी, लघु वित्त बैंक और सहकारी बैंक में जाकर किसान क्रेडिट कार्ड ऋण के लिए आवेदन कर सकते हैं।

केसीसी ऋण कौन ले सकता है या वास्तव में पात्रता मानदंड क्या हैं निम्नलिखित किसान किसान क्रेडिट कार्ड योजना के तहत ऋण के लिए पात्र हैं।

कृषि योग्य भूमि के मालिक किसान
काश्तकार किसान
बचत समूह या संयुक्त देयता समूह
मवेशी किसान
मछुआ
डेयरी किसान
किसान क्रेडिट कार्ड बनवाने के लिए आवश्यक दस्तावेज

किसान क्रेडिट कार्ड योजना के लिए आवेदन करने के लिए नीचे उल्लिखित दस्तावेजों की एक प्रति संलग्न करनी होगी। आवेदक

किसान का आधार कार्ड
पैन कार्ड
मतदाता पहचान पत्र
ड्राइविंग लाइसेंस
पासपोर्ट साइट फोटो
आधार से जुड़ा मोबाइल नंबर
सत्रह मार्ग
पासपोर्ट के आकार की तस्वीर
बैंक खाता पासबुक की प्रति
एक हलफनामा जिसमें कहा गया है कि कोई बैंक ऋण बकाया नहीं है।

कैसे और कहां आवेदन करें

किसान क्रेडिट कार्ड योजना का लाभ उठाने के लिए किसान ऑनलाइन और ऑफलाइन आवेदन कर सकते हैं। ऑफलाइन आवेदन के लिए नजदीकी बैंक से संपर्क करें। इसलिए किसान ऑनलाइन आवेदन करें

किसान क्रेडिट कार्ड योजना https://pmkisan.gov.in/
कोई भी इस आधिकारिक पोर्टल पर जा सकता है और आवेदन कर सकता है।
वेबसाइट पर जाने के बाद होम पेज पर दाईं ओर किसानों को केसीसी फॉर्म डाउनलोड करने का विकल्प दिखाई देगा।
यहां क्लिक करने पर केसीसी एप्लीकेशन फॉर्म पीडीएफ एक नए टैब में खुल जाएगा।
यहां आवेदन पत्र डाउनलोड करें, इसका एक प्रिंट लें और सभी विवरण सही-सही भरें।
केसीसी आवेदन पत्र के साथ पूछे गए सभी दस्तावेजों को संलग्न करें और इसे किसी भी बैंक में जमा करें जहां आपका खाता है। इस प्रकार आप आसानी से किसान क्रेडिट कार्ड योजना का लाभ उठा सकते हैं।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *