Kapus Bajarbhav : महाराष्ट्र के कपास किसानों के लिए एक बहुत ही खुशखबरी आ रही है| अंतरराष्ट्रीय बाजार में कपास की कीमत में गिरावट के बावजूद आज घरेलू कपास बाजार में कीमतों में तेजी देखने को मिली है। दिलचस्प बात यह है कि ग्रामीण खरीदारी में कपास 10,000 के स्तर पर पहुंच गई है।

महाराष्ट्र में कपास का बाजार भाव अब 10,000 रुपये प्रति क्विंटल तक है। इससे कपास किसानों को बड़ी राहत मिली है। हालांकि इसके बावजूद कपास किसान इस कीमत पर कपास बेचने को तैयार नहीं हैं।

एक मीडिया रिपोर्ट में किए गए दावे के मुताबिक, महाराष्ट्र में आज ग्रामीण खरीद में कपास की अधिकतम बाजार कीमत 9,900 रुपये प्रति क्विंटल रही। दिलचस्प बात यह है कि सूबे की प्रमुख कृषि उपज मंडी समिति ने भी कपास के दाम में एक सौ से दो सौ रुपये की बढ़ोतरी का जिक्र किया है| एक तरफ कपास की बाजार में कीमत बढ़ रही है तो दूसरी तरफ कपास की आवक दिन-ब-दिन घटती जा रही है।

जानकारों का कहना है कि किसान मौजूदा बाजार भाव पर कपास बेचने को तैयार नहीं हैं। किसानों को कपास की कीमतों में और तेजी देखने को मिल सकती है। इस बीच बाजार में कपास की आवक कम होने से कपास की कीमतों में तेजी आ रही है। प्रदेश की अखिल कृषि उपज मंडी समिति में आज हुई नीलामी के अनुसार कपास का औसत बाजार भाव 7,950 रुपये प्रति क्विंटल से 9,050 रुपये प्रति क्विंटल रहा।

बाजार समिति ने आज कपास का अधिकतम बाजार मूल्य 9325 रुपये प्रति क्विंटल भी निर्धारित किया। इस बीच ग्राम उपार्जन में कपास के भाव 9900 प्रति क्विंटल तक पहुंच गए हैं। जानकारों का कहना है कि कपास की आवक अपेक्षाकृत कम होने से दाम बढ़ रहे हैं। कीमतों में बढ़ोतरी की उम्मीद में किसानों ने कपास का भंडारण कर लिया है।

यही कारण है कि आज अंतरराष्ट्रीय बाजार में कपास की बाजार कीमत दबाव में है, खासकर भारतीय वायदा बाजार में, जबकि कपास की कीमत भी दबाव में है, यह बताया गया है कि कपास को रिकॉर्ड बाजार मूल्य मिला है। इस बीच अधिकतम बाजार भाव में भारी वृद्धि हुई है और अधिकतम बाजार भाव 9900 प्रति क्विंटल पर पहुंच गया है| हालांकि औसत बाजार भाव अभी भी 9000 रुपये प्रति क्विंटल से नीचे है।

लेकिन किसानों के लिए राहत भरी खबर यह है कि जानकार लोगों ने कपास का औसत बाजार भाव 9,000 रुपये प्रति क्विंटल तक रहने की उम्मीद जताई है| इससे किसानों के लिए यह ध्यान में रखते हुए चरणबद्ध तरीके से कपास की बिक्री जारी रखना फायदेमंद होगा कि उन्हें 9000 रुपये प्रति क्विंटल का औसत बाजार मूल्य मिलेगा।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *