Goverment Disicion:अगर हम जमीन की बात करें तो खरीदने-बेचने की बात बहुत अहम है। भूमि (land) की खरीद के बाद, खरीद मूल्य और भूमि के रूपांतरण को रिकॉर्ड करना बहुत महत्वपूर्ण है।

इन सभी मामलों में यदि हम परिवर्तन पर्ची पर प्रविष्टि पर विचार करते हैं, तो अक्सर सरकारी कार्यालयों में मज़ाक करने की बारी आती है लेकिन अब यह साजिश गायब हो जाएगी और खरीद के बाद, आप अपने पंजीकरण कार्यालय (registration Office) में प्रवेश करने के बाद अपना परिवर्तन बदल सकते हैं। पंजीकृत प्रमाण पत्र, उस कार्यालय का पता या स्थान या आपका प्रमाण पत्र संख्या आदि दर्ज किया गया है|

कोई आपत्ति (objection) प्राप्त हुई है या नहीं इसकी जानकारी अब एक क्लिक से मिलेगी। भूमि अभिलेख विभाग द्वारा इस संबंध में महत्वपूर्ण सुविधाएं उपलब्ध कराई गई हैं।

भूमि अभिलेख विभाग महाभूमि पोर्टल पर लाया है यह सुविधा –

इस संबंध में भूमि अभिलेख विभाग ने अब नागरिकों की सेवा के लिए महाभूमि पोर्टल पर एक महत्वपूर्ण सुविधा प्रदान की है और इसमें ‘म्यूटेशन आवेदन स्थिति’ नामक सुविधा यानि परिवर्तन आवेदनों की वर्तमान स्थिति प्रदान की गई है।

और इसके उपयोग से भूमि स्वामित्व के पंजीकरण (registration of land ownership) के बाद संशोधन और सतबारा प्रात्रा से संबंधित सभी महत्वपूर्ण मामलों को ट्रैक करना आसान होगा।

इससे नागरिकों का समय, पैसा और दफ्तरों के बीच इधर-उधर जाने की परेशानी खत्म होगी। राज्य में सभी जगहों पर इस योजना का क्रियान्वयन शुरू हो चुका है।

इसलिए, ऑनलाइन लेन-देन रिकॉर्ड अब भूमि के लेन-देन के कुछ दिनों के भीतर उपलब्ध होगा।

यह सुविधा उपलब्ध कराकर भूमि क्रय-विक्रय का लेन-देन पूर्ण होने पर संबंधित क्रेता को महत्वपूर्ण ई-फरफर योजना में नये विकल्प के रूप में सतबारा नथाला पर पंजीकृत किया जा सकता है, जिससे नागरिकों को बड़ी राहत मिली है।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *