Soybean Bajarbhav : सोयाबीन के किसानों को पिछले कुछ दिनों से अच्छी खबर मिल रही है| दोस्तों, जैसा कि, आप जानते ही हैं कि, सोयाबीन के बाजार भाव में अब बढ़ोतरी की बात कही जा रही है।

इससे सोयाबीन किसानों को राहत मिली है। साथियों, आपकी जानकारी के लिए हम यहां बताना चाहेंगे कि, पिछले साल केंद्र सरकार ने खाद्य तेल की कीमत को नियंत्रित करने के लिए खाद्य तेल और तिलहन पर स्टॉक की सीमा लगाई थी।

नतीजतन, खाद्य तेल की कीमतों को नियंत्रित किया गया, लेकिन इससे तिलहन फसलों की कीमत भी प्रभावित हुई। तिलहन फसलों के बाजार भाव में भारी गिरावट आई है। इससे सोयाबीन की कीमतों में भी भारी गिरावट आई है। दोस्तों, केंद्र सरकार ने वास्तव में इस स्टॉक की सीमा को दिसंबर 2022 तक बढ़ा दिया।

अब जबकि खाद्य तेल की कीमत पर काबू पा लिया गया है, केंद्र सरकार ने स्टॉक की सीमा वापस ले ली है। जब से स्टॉक की सीमा हटाई गई है, सोयाबीन की कीमत बढ़ रही है। इससे सोयाबीन के किसानों को निश्चित तौर पर राहत मिल रही है। इस बीच, सरकार के इस फैसले की किसानों द्वारा सराहना की जा रही है।

सरकार के इस फैसले की जानकार लोगों ने भी तारीफ की है| इस बीच केंद्र सरकार द्वारा स्टॉक लिमिट हटाने के बाद इस हफ्ते सोयाबीन की कीमतों में 4.8 फीसदी तक की तेजी आई। सोयाबीन की कीमत घटकर 5556 रुपये प्रति क्विंटल हो गई है।

दोस्तों, हम यहां आपकी जानकारी के लिए बताना चाहेंगे कि, पिछले सप्ताह सोयाबीन (इंदौर) का हाजिर भाव 50303 रुपये था उस समय सोयाबीन के भाव में 2.2 प्रतिशत की वृद्धि हुई थी| इस बीच इस हफ्ते इसमें 4.8 फीसदी और सोयाबीन के भाव 5556 पर पहुंच गए हैं|

साथियों, आपकी जानकारी के लिए हम यहां बताना चाहेंगे कि, केंद्र सरकार ने सोयाबीन के लिए 4300 रुपये प्रति क्विंटल की गारंटीशुदा कीमत की घोषणा की है। जाहिर है, हाजिर बाजार में सोयाबीन के दाम गारंटी से ज्यादा हैं। कुल मिलाकर सोयाबीन की कीमतों में तेजी का रुख है। इस बीच सोयाबीन उत्पादन के किसानों के मुताबिक मौजूदा बाजार भाव में सोयाबीन की फसल पर हुए खर्च की वसूली करना मुश्किल है|

किसानों को सोयाबीन की कीमतों में और तेजी की उम्मीद है। इस बीच जानकारों ने सोयाबीन किसानों से 6,000 रुपये प्रति क्विंटल के भाव स्तर को ध्यान में रखते हुए सोयाबीन की बिक्री जारी रखने की अपील की है|

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *