Kanda Bajarbhav : नवंबर का महीना शुरू हो गया है और प्याज की कीमतों में जबरदस्त तेजी देखने को मिली है| इससे उत्पादक किसानों के चेहरे पर खुशी है।

इस बीच जानकार लोगों ने भविष्यवाणी की कि प्याज की कीमतों में बढ़ोतरी जनवरी तक जारी रहेगी। लेकिन जानकारों की यह भविष्यवाणी गलत निकली है और प्याज की कीमत में बड़ी गिरावट देखने को मिल रही है|

जहां नवंबर की शुरुआत में प्याज का अधिकतम बाजार मूल्य 3500 रुपये तक पहुंच गया, वहीं औसत बाजार मूल्य भी 2500 रुपये प्रति क्विंटल को पार कर गया। इससे निश्चित रूप से किसानों को राहत मिल रही थी और किसानों को उस प्याज की बढ़ी हुई दर से मुआवजा मिलेगा जो उन्होंने पहले कवडीमोल डार में बेचा था।

लेकिन अब एक बार फिर प्याज के दाम गिरे हैं और किसान संकट में हैं| इस बीच सबकी नजर है कि क्या प्याज के दाम बढ़ेंगे। प्याज की कीमतों में उतार-चढ़ाव के कारण क्या प्याज की कीमतें बढ़ेंगी, इसे लेकर जानकार भी संशय में नजर आ रहे हैं। इसी बीच आज हम राज्य की प्रमुख कृषि उपज मंडी समिति में हुई प्याज की नीलामी की जानकारी जानने वाले हैं|

पुणे कृषि उपज मंडी समिति :- पुणे एपीएमसी में आज 10534 क्विंटल देशी प्याज प्राप्त हुआ। इस एपीएमसी में आज हुई नीलामी में प्याज का न्यूनतम बाजार मूल्य 600 रुपये प्रति क्विंटल और अधिकतम बाजार मूल्य 2000 रुपये प्रति क्विंटल मिला। साथ ही औसत बाजार भाव 1300 रुपए प्रति क्विंटल है।

पुणे पिंपरी कृषि उपज मंडी समिति :- इस एपीएमसी में आज सात क्विंटल देशी प्याज की आवक हुई। इस एपीएमसी में आज हुई नीलामी में प्याज का न्यूनतम बाजार मूल्य 1000 रुपये प्रति क्विंटल और अधिकतम बाजार मूल्य 2000 रुपये प्रति क्विंटल मिला। साथ ही औसत बाजार मूल्य 1500 रुपए बताया गया है।

पुणे मोशी कृषि उपज मंडी समिति :- इस एपीएमसी में आज 424 क्विंटल देशी प्याज प्राप्त हुआ। इस एपीएमसी में आज हुई नीलामी में प्याज का न्यूनतम बाजार मूल्य 500 रुपये प्रति क्विंटल और अधिकतम बाजार मूल्य 2000 रुपये प्रति क्विंटल मिला। साथ ही औसत बाजार भाव 1250 रुपए बताया गया है।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *