Maharashtra Breaking :फसल बीमा मुआवजे को लेकर एक बेहद राहत देने वाली खबर सामने आ रही है| दरअसल, इस साल बेमौसम बारिश से किसानों को भारी नुकसान हुआ है।

ऐसे में फसल बीमा कंपनियों का दायित्व है कि वे संबंधित फसल बीमा धारक किसानों को जल्द से जल्द फसल बीमा राशि का भुगतान करें। हालांकि, किसानों को फसल बीमा प्रदान करने के लिए फसल बीमा कंपनियों के हंगामा करने की एक तस्वीर है। इस बीच किसान भाइयों और किसान संगठनों ने फसल बीमा कराने की मांग तेज कर दी है।

नतीजतन, महाराष्ट्र कृषि विभाग ने फसल बीमा धारक किसानों को तुरंत फसल बीमा मुआवजा जमा करने का आदेश दिया है। जिन किसानों को अभी तक फसल बीमा मुआवजा नहीं मिला है, उन्हें फसल बीमा मुआवजा के रूप में वर्गीकृत किया जाएगा। हम आपकी जानकारी के लिए यहां बताना चाहेंगे कि शेष 30 लाख 37 हजार 539 किसानों को 1644 करोड़ रुपये की मुआवजा राशि जल्द ही दी जाएगी।

इसके लिए कृषि विभाग की ओर से संबंधित फसल बीमा कंपनियों को आदेश दे दिया गया है। कृषि विभाग की ओर से फसल बीमा कंपनियों को भी आगाह किया गया है कि कोई भी फसल बीमा धारक और नुकसान से प्रभावित किसान फसल बीमा से वंचित न रहे| इसलिए ऐसी तस्वीर है कि जिन किसानों का फसल बीमा नहीं हुआ है उन्हें जल्द ही फसल बीमा मिल जाएगा।

इस बारे में अधिक जानकारी यह है कि महाराष्ट्र में खरीफ सीजन के लिए 16 लाख 86 हजार 786 किसानों को फसल बीमा मुआवजा देने की पेशकश की गई है| इतने किसानों को 625 करोड़ रुपये का मुआवजा मिला है। लेकिन अभी भी प्रदेश में 30 लाख 37 हजार 539 किसान फसल बीमा से वंचित हैं।

इन किसानों को अब फसल बीमा कंपनियों से करीब 1,644 करोड़ रुपये का मुआवजा मिलेगा। मंत्रालय में बुधवार को हुई समीक्षा बैठक में फसल बीमा कंपनियों के प्रतिनिधियों को इस संबंध में आदेश दिया गया है कि जिन किसान भाइयों ने अपनी फसल का ऑनलाइन-ऑफलाइन दावा किया है, उनके दावे स्वीकृत किए जाएं| दोहरे दावे के मामले में फसल बीमा कंपनियों से एक दावा स्वीकार करने का अनुरोध किया गया है।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *