Shukra Gochar 2022: वैदिक ज्योतिष में शुक्र ग्रह को बहुत ही शुभ ग्रह माना गया है। जीवन के सभी सुख-सुविधाएं, वाहन सुख, शैय्या सुख, प्रेम, दांपत्य जीवन आदि का संबंध है। ऐसे में अगर कुंडली में शुक्र की स्थिति ठीक नहीं है तो जीवन में सुख-सुविधा नहीं मिलती और व्यक्ति अच्छा जीवन नहीं जी पाता है।

शुक्र की कृपा से जातक को स्त्री सुख, भोग, भूमि, भवन और वाहन की प्राप्ति होती है।शुक्र की कृपा से ही फिल्म, संगीत, कला, नृत्य आदि क्षेत्रों में प्रगति हो रही है। मजबूत शुक्र वाले अच्छे लेखक, निर्देशक और अभिनेता बनते हैं। ऐसी स्थिति में शुक्र के गोचर को ज्योतिष शास्त्र में बहुत महत्वपूर्ण माना जाता है।

शुक्र 29 दिसंबर को शनि की राशि मकर में प्रवेश करेगा। इस राशि के लोगों को इनके गोचर से विशेष लाभ मिलेगा। आइए जानते हैं किस राशि के जातकों के लिए शुभ दिनों की शुरुआत होने जा रही है।

मकर राशि

शुक्र इस राशि के लोगों के लिए अंतिम राजयोग कारक है। शुक्र आपकी कुंडली के पंचम और दशम भाव का स्वामी है और अत्यंत शुभ फल देने वाला रहेगा। शुक्र आपकी लग्न राशि से ही गोचर करेगा। साथ ही लग्न में बैठे शुक्र का रास आपके सप्तम भाव में रहेगा।इससे आपको अपनी पत्नी का सहयोग प्राप्त होगा। वैवाहिक जीवन मधुर रहेगा और आपसी संबंधों में सुधार आएगा। शुक्र के प्रभाव से इस समय आपको हर जगह लाभ होगा। बिजनेस में पार्टनरशिप हो सकती है। साथ ही जरूरत पड़ने पर परिवार की तरफ से आर्थिक मदद भी की जाएगी। कुल मिलाकर यह अवधि आपके लिए बहुत ही अच्छी रहने वाली है।

मेष राशि

इस राशि के लोगों के लिए शुक्र दूसरे और सातवें भाव का स्वामी है। शुक्र आपके दशम भाव में प्रवेश करेगा। 10वें भाव से जातक के कार्य और कार्य पर विचार किया जाता है। इस भाव में शुक्र का गोचर बहुत अच्छे परिणाम देगा। नौकरी में तरक्की की संभावना है।

प्रमोशन या आर्थिक लाभ की संभावना है। व्यापार से जुड़े जातकों को काफी फायदा होगा। शुक्र का सप्तम भाव आपके चतुर्थ भाव में होगा।यह परिवार से दूर हो सकता है, लेकिन यह आपके करियर के लिए अच्छा रहेगा। इस गोचर के प्रभाव से आपको सभी भौतिक सुख-सुविधाएं प्राप्त होंगी। इस गोचर के दौरान महिला सहकर्मी के सहयोग से उच्च पद की प्राप्ति हो सकती है।

कन्या

इस राशि के लोगों के लिए शुक्र दूसरे और नौवें भाव का स्वामी है। शुक्र अब आपके पंचम भाव से गोचर करेगा। पंचम भाव से जातक की शिक्षा, प्रेम और संतान का विचार किया जाता है। ऐसे में प्रेम विवाह और स्त्री सुख के योग बन रहे हैं।शैक्षणिक क्षेत्र में सफलता मिलेगी और परीक्षा में आसानी से अच्छे अंक प्राप्त होंगे। संतान की ओर से शुभ समाचार मिल सकता है। यह यात्रा विशेष रूप से महिला निवासियों के लिए लाभकारी होगी। शेयर बाजार में निवेश आदि से आय होती है।

अस्वीकरण: ‘इस आलेख में प्रदान की गई जानकारी की सटीकता या विश्वसनीयता की गारंटी नहीं है। यह जानकारी आपको विभिन्न माध्यमों/ज्योतिष/पंचांग/उपदेश/धार्मिक मान्यताओं/शास्त्रों से प्राप्त सूचनाओं का संकलन कर भेजी जाती है। हमारा उद्देश्य केवल सूचना पहुँचाना है, पाठक या उपयोगकर्ता इसे सूचना के रूप में ही लें। इसके अलावा, इसका कोई भी उपयोग उपयोगकर्ता या पाठक की एकमात्र जिम्मेदारी होगी।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *