कोरोना की दूसरी लहर के बाद लोग हेल्थ इन्शुरन्स लेकर (स्वास्थ विमा) काफी सतर्क हो चुके है। इन दिनों हेल्थ इन्शुरन्स की मांग काफी बढ़ चुकी है।

बढ़ती डिमांड और क्लेम्स की वजह से कई विमा कंपनियों ने अपने हेल्थ इन्शुरन्स की कीमतों में बढ़ोतरी की है। हालांकि अभी एक नया सवाल लोगों को परेशान कर रहा है।

लोगों के मन में सवाल है की क्या यह हेल्थ इन्शुरन्स देने वाली कंपनियां कोरोना के ओमीक्रॉन संस्करण के इलाज को कवर करती है या नहीं ? हालाँकिअब परशान होने की जरुरत नहीं है।

आईआरडीएआई (IRDAI) ने आम जनता को राहत देते हुए कहा है कि कोविड के इलाज का खर्च वहन करने वाले स्वास्थ्य बीमा पॉलिसियों में ओमाइक्रोन से होने वाले संक्रमण के इलाज का खर्च भी शामिल होगा. यह काफी राहत देने वाली खबर है।

क्योंकि देश में ओमीक्रो की वजह से कोरोना की तीसरी लहर आना लगभग तय माना जा रहा है।

IRDAI ने कहा कि सामान्य और स्वास्थ्य बीमा क्षेत्रों की सभी कंपनियों द्वारा जारी स्वास्थ्य बीमा पॉलिसियां, जो कोरोना उपचार से जुड़ी लागतों को कवर करती हैं, कोरोना वायरस के नए रूप ओमाइक्रोन से संक्रमित लोगों के इलाज की लागत को भी कवर करेंगी।

IRDAI ने दिए निर्देश :- IRDAI ने देश में तेजी से बढ़ रहे ओमाइक्रोन मामलों को देखते हुए सामान्य और स्वास्थ्य बीमा कंपनियों को अपने सभी नेटवर्क प्रदाताओं और अस्पतालों के साथ एक प्रभावी समन्वय प्रणाली बनाने का निर्देश दिया।

पॉलिसीधारक को अस्पताल में भर्ती होने की स्थिति में कैशलेस भुगतान सुनिश्चित करने के लिए भी कहा गया है।

इस वजह से मध्यम वर्ग और गरीब वर्ग के के मरीजों को बड़े अस्पतालों में इलाज करवाने में कोई दिक्कत नहीं आएगी। बता दें कि अप्रैल 2020 में भी कोविड की पहली लहर के दौरान

IRDAI ने सभी बीमा कंपनियों को अस्पताल में कोविड-19 के इलाज से जुड़े खर्च को वहन करने को कहा था.

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *