कोरोना वायरस का अब तक का सबसे घातक वैरिएंट ओमीक्रोने दुनियाभर में तबाही मचाई है। इस वैरिएंट की वजह से दुनियाबाहर में लाखो लोगों को अपनी जान गंवानी पड़ रही है।

वही, इस वैरिएंट की वजह से दुनिया के अनेक देशों में फिर से लॉकडाउन लग चुके है। नतीजन, विश्व आर्थिक मंच (WEF) ने कोरोना वायरस के एक नए ओमिक्रॉन वैरिएंट के कारण बैठक को स्थगित करने का निर्णय लिया है।

विश्व आर्थिक मंच की बैठक जनवरी 2022 में होनी थी, लेकिन अब यह 2022 के मध्य में होगी।

हर साल दावोस में होती है बैठक स्विट्जरलैंड के दावोस में हर साल 3,000 से ज्यादा विश्व-प्रसिद्ध बिजनेस लीडर्स समेत कई देशों के प्रमुख इस बैठक में शामिल होते हैं।

पिछले साल भी कोरोना वायरस के चलते बैठक रद्द कर दी गई थी। पिछले साल की बैठक को पहले सिंगापुर में स्थानांतरित किया गया था, लेकिन बाद में रद्द कर दिया गया था।

स्विट्जरलैंड कर रहा है लॉकडाउन की तैयारी विश्व आर्थिक मंच के लिए सख्त स्वास्थ्य प्रोटोकॉल बनाए गए थे।

लेकिन जिस तरह से यूरोप में कोरोना ओमाइक्रोन का नया रूप तेजी से फैल रहा है, उसे देखते हुए बैठक स्थगित करने का फैसला किया गया।

इसी वेरिएंट को ध्यान में रखते हुए स्विट्जरलैंड लॉकडाउन की तैयारी कर रहा है।

आपको बता दें कि दावोस के अल्पाइन टाउन वर्ल्ड इकोनॉमिक फोरम की बैठक होती है।

गौरतलब है कि इस जगह लोकसंख्या काफी तेजी से बढ़ रही है।

भारत में २०० से ज्यादा ओमिक्रोन के मामले इसी बीच भारत में भी Omicron के २०० मामले पाए गए है।

महाराष्ट्र और दिल्ली में इस वैरिएंट के सबसे ज्यादा मरीज है।

अगर भारत में Omicron अपना रौद्र रूप धारण करता है तो देश में कोरोना की तीसरी लहर आने की संभावना है।

Leave a comment

Your email address will not be published.