Kapus Bajarbhav : पिछले वर्ष कपास (Cotton Crop) को उच्च बाजार मूल्य (Cotton Rate) मिला था, इस वर्ष कपास की खेती के क्षेत्र में वृद्धि हुई है।

लेकिन इस साल मुहूर्त के कुछ दिनों को छोड़कर कपास का बाजार भाव न के बराबर (Cotton Price) मिल रहा है। इस बीच बारिश की वापसी कपास की फसल के लिए बड़ा खतरा बनती जा रही है।

वर्तमान में कपास उत्पादन (Cotton Production) के लिए विशेष रूप से विख्यात खानदेश प्रांत में वापसी की बारिश से अच्छा धुंआ निकल रहा है और कपास के खेत बन गए हैं।

खानदेश में कपास की कटाई (Cotton Harvesting) चल रही है। लेकिन कपास को बहुत ही कम बाजार मूल्य मिल रहा है, इसलिए कपास उत्पादक किसान (Cotton Grower Farmer) अब कपास के भंडारण की ओर रुख कर रहे हैं।

हालांकि, इसके बावजूद अधिकांश किसान जगह की कमी के कारण कपास का भंडारण नहीं कर पा रहे हैं, जिसके परिणामस्वरूप ऐसे किसानों को कपास को उस कीमत पर बेचना पड़ रहा है, जो उन्हें मिल सकती है। साथ ही दिवाली के मौके पर कुछ किसान भाइयों को कपास को नकदी के रूप में बेचने के लिए मजबूर किया जाता है।

कुछ किसान भाई जिन्होंने ब्याज का पैसा लिया है और कपास बोया है, कर्ज चुकाने के लिए कपास बेचने को मजबूर हैं। इस बीच जानकारों के मुताबिक इस समय उद्योग से कपास की मांग बहुत ही कम है।

इसके अलावा, वैश्विक बाजार में मंदी है। साथ ही देश में चल रही कॉटन मिलें अभी पूरी क्षमता से शुरू नहीं हो पाई हैं, जिससे कॉटन की मांग फिलहाल कम है।

हालांकि, अगले कुछ महीनों में उद्योग से कपास की मांग बढ़ेगी और देश में चल रही कपास मिलें भी अपनी पुरानी स्थिति में लौट आएंगी। ऐसे में कपास की मांग भी बढ़ेगी। जानकारों का मानना है कि इससे अगले कुछ महीनों में कपास के बाजार भाव में तेजी आएगी।

जानकारों के मुताबिक इस साल कपास की सामान्य बाजार कीमत 9,000 रुपये प्रति क्विंटल तक हो सकती है। हालांकि, किसानों को कपास की बाजार कीमत इससे भी ज्यादा बढ़ने की उम्मीद है।

17 अक्टूबर को वरोरा मधेली में हुई कपास की नीलामी में कपास की अधिकतम बाजार कीमत 8,000 रुपये प्रति क्विंटल रही। इस बीच यहां 77 क्विंटल कपास आ चुकी थी।

साथ ही 15 तारीख को अरवी बाजार में 231 क्विंटल एच-4 मीडियम स्टेपल कपास प्राप्त हुई। इस दिन हुई नीलामी में एच-फोर मीडियम स्टेपल कपास का अधिकतम बाजार भाव 8 हजार 21 रुपये प्रति क्विंटल रहा।

साथ ही इस दिन हुई नीलामी में न्यूनतम बाजार भाव 7850 रुपये और सामान्य बाजार भाव 7 हजार 950 रुपये प्रति क्विंटल रहा| निश्चित रूप से मौजूदा बाजार भाव कपास किसानों की अपेक्षा के अनुरूप नहीं है। किसानों को कपास के बाजार मूल्य में और बढ़ोतरी की उम्मीद है।

विशेषज्ञों ने भविष्य में कपास के बाजार भाव में तेजी की उम्मीद जताई है। इससे सभी का ध्यान भविष्य में कपास के बाजार भाव पर रहेगा।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *